गुरुवार

कोविड-19 की स्थितियों पर PM मोदी ने ली मीटिंग, शाह और राजनाथ भी रहे मौजूद

देशभर में कोरोना का प्रकोप बढ़ रहा है। इसी वजह से आज पीएम मोदी ने देश में कोरोना संबंधित स्थिति पर मीटिंग की। इस मीटिंग में पीएम ने विभिन्न राज्यों और जिलों में कोरोना के प्रकोप के बारे में जानकारी ली। बैठक में अधिकारियों ने पीएम को 12 राज्यों के हालत बताए, जहां अभी एक लाख से ज्यादा एक्टिव मामले हैं। इसके अलावा उच्च रोग भार वाले जिलों के बारे में भी उनको बताया गया।




बैठक में पीएम को राज्यों द्वारा स्वास्थ्य सुविधाओं के बारे में भी जानकारी दी गई। और उन्होंने निर्देश दिया कि राज्यों के स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के लिए सहायता और मार्गदर्शन दिया जाए।

मीटिंग में त्वरित और सभी रोकथाम उपायों की आवश्यकता पर भी चर्चा की गई। पीएम मोदी ने राज्यों में गंभीर जिलों की पहचान करने के लिए एक एडवाइजरी भेजी थी जहां पॉजिटिविटी केस 10% या उससे अधिक है और ऑक्सीजन सपोर्टेड पर बेड ऑक्यूपेंसी 60% से अधिक है।

पीएम ने दवाओं की उपलब्धता के बारे में भी जानकारी ली। अगले कुछ महीनों में टीकों पर उत्पादन बढ़ाने और टीकाकरण बढ़ाने की समीक्षा की। उन्हें बताया गया कि राज्यों में 17.7 करोड़ टीके की पूर्ति की गई है। पीएम ने वैक्सीन वेस्टेज पर भी समीक्षा की। पीएम को बताया गया कि 45 वर्ष से अधिक आयु के 31% लोगो को एक खुराक दी गई है।

पीएम ने आदेश दिए है कि टीकाकरण की रफ्तार में कमी नहीं आनी चाहिए। लॉकडाउन होने पर भी टीकाकरण के लिए लोगों को सुविधा दी जानी चाहिए। टीकाकरण करने वाले स्वास्थ्य कर्मियों को अन्य ड्यूटी के लिए डायवर्ट नहीं किया जाना चाहिए। पीएम की इस बैठक में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, निर्मला सीतारमण, डॉ. हर्षवर्धन, पीयूष गोयल, मनसुख मंडाविया, अन्य मंत्री और अधिकारी भी मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Mathura Vrindavan

क्या है हाई ब्लड प्रेशर? हाई ब्लड प्रेशर कितने प्रकार के होते हैं? हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण क्या हैं? हाई ब्लड प्रेशर के कारण क्या है?

हाई ब्लड प्रेशर आज कल आम समस्या बनती जा रही है। इसे गंभीरता से न लेने के कारण ज्यादातर लोग आसानी से इसका शिकार बनते जा रहे हैं। भारत में 8 ल...