Type Here to Get Search Results !

मेरा एलोपैथिक से विरोध नहीं है। लेकिन जो ड्रग माफिया है पूरे के पूरे 27 लाख करोड़ 1 साल में लूटते हैं। योग और आयुर्वेद अपना लो- बाबा रामदेव

कोरोना से तीन-तीन पीढ़ियां खत्म हुई हैं लेकिन लोगों को बोध नहीं है कि योग से, आयुर्वेद से कोरोना से ही नहीं हर रोग से आप लड़ सकते हो और उससे जीत सकते हो, विजय पा सकते हो।

आज जब मैंने यह दर्द भरी दास्तान सुनी भाई अनिल गोयल जी से तब मेरा हृदय कांप उठा 4 मई को अभी इसी महीने बेटी की शादी होनी थी और उससे पहले समाचार आया अंकिता बेटी की जहाँ शादी होनी है वहाँ तीन पीढ़ियां खत्म हो गई। 28 साल का बेटा और उनके दादा व पिता जी की भी डेथ हो गयी और अच्छे हॉस्पिटल्स में एडमिट थे।

 लोग कह रहे हैं हॉस्पिटल्स नहीं मिल रहे इसलिए डेथ हो रही है, मैं कहता हूं योग नहीं कर रहे कोरोनिल नहीं ले रहे इसलिए डेथ हो रही है। पूरे हिंदुस्तान में हमने करोड़ों लोगों की जान बचाई मैं किसी इमोशन को कैच नहीं कर रहा हूँ लेकिन मैं यह बताना चाह रहा हूं तीन पीढ़ियां खत्म हो गई और इनकी जो बेटी थी अंकिता उसको डिप्रेशन हो गया कि यह मेरे साथ हुआ क्या मेरा होने वाला पति, होने वाले ससुर, ससुर के पिता तीन पीढ़ी 1 महीने में खत्म हो गई।

 यह हिम्मत करके अपनी बेटी को यहाँ लेकर के आए अब बेटी को भी हमनें यहां हौसला दिया, हिम्मत दी कि बेटा जिंदगी में चाहे कितने भी आंधी-तूफान आएं, संघर्ष चुनौतियां, संकट आएं हमें घबराना नहीं है। देखो ऐसी परिस्थितियों में जब आंखों के सामने तीन तीन लोगों की मौत देखें तो बहुत कष्ट होता है लेकिन इसके पिता को भी मैं धन्यवाद दूंगा कि उसको सही जगह पर लेकर आया कि मेरी बेटी जो है मुझे उसको खोना नहीं है नहीं तो कई बार ऐसे गम के माहौल में आदमी अपने आपको संभाल नहीं पाता।

अब यह बैठे हैं हमारे साथ में गुरदीप सिंह जी, गुरदीप की हालात यह है इसने अपना 25 किलो वजन कम कर लिया पहले 90 किलो का था और इनकी जो पत्नी है एक उनकी बहन थी लेकिन वह चली गई कोरोना में और जो बहु की भाभी थी उनकी भी कोरोना से डेथ हो गई है। बहू को कोरोना हुआ उसने कोरोनिल, श्वासारि और अणु तेल डालकर वह ठीक हो गई। जिनको नहीं मिला वह चल बसे यह एक छोटी सी बात है कोरोनिल से यदि जिंदगी बच सकती है तो मतलब योग का आयुर्वेद का विरोध क्यों।

अब यह अमित पानीपत के पास में एक गांव है वहाँ से है इसकी मां कैलाश देवी की उम्र 75 साल और ऑक्सीजन 75 आ गया था और फिर यह कोरोनिल लेकर आया और 24 घंटे में माता जी बिल्कुल ठीक हो गई और जब इसकी मां ठीक हो गई तो इसने और 75 लोगों को कोरोनिल दी। पहले तो कहते थे कोरोनिल से क्या होगा लेकिन जब ठीक हो गए तो कहने लगे कि यह तो अच्छी चीज है तो पूरा गांव बचा लिया और खुद आनंदप्रकाश पहलवान जी हिम्मत हार गये थे। 5 महीने से ऑक्सीजन पर थे और फिर श्वासारि गोल्ड का इस्तेमाल किया और अब ठीक हो गए। मेरी बहन सुनीता देवी जी वह तो योगा भी करती थी लेकिन पता नहीं किस के चक्कर में हॉस्पिटल में पहुंच गई कोरोनिल नहीं खाई फिर कोरोनिल माता जी के कहने पर उसने खाई उसने कोरोनिल और श्वासारि गोल्ड खाई वह भी 24 घंटे से पहले ही रिकवर हो गई। 75 परसेंट फेफड़े खराब हो गए थे वह ठीक कर लिए 

इसलिए मैं कहता हूं आग्रह मत रखो योग और आयुर्वेद यह कोई स्वामी रामदेव का ज्ञान नहीं है अपने पूर्वजों का ज्ञान है और अपने पूर्वजों की इतनी बड़ी योग विद्या, आयुर्वेद विद्या होते हुए हम मारे-मारे ठोकर खाते हुए फिरे और फिर कहें की एलोपैथी हमें बचा लेगी।

 मेरा एलोपैथिक से विरोध नहीं है। लेकिन जो ड्रग माफिया है पूरे के पूरे 27 लाख करोड़ 1 साल में लूटते हैं। योग और आयुर्वेद अपना लो अपने आपको स्वस्थ बना लो इसलिए आज मैंने जब यह दर्द सुना और फिर समाधान भी सुना तो मैंने कहा आप यहां अपने अनुभव जरूर शेयर करेंजिससे हम दूसरे लोगों की जान बचा सकें, उन तक कोरोनिल पहुंचा सकें और अब तो हम जिनको कोरोनिल नहीं मिल रही किसी कारणवश उनको आर्डर मी के माध्यम से घर बैठे पहुंचा रहे हैं वह भी 10% छूट के साथ।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Below Post Ad

Hollywood Movies